Yeh Rishta Kya Kehlata Hai 16th February 2023 Written Episode Update: Abhi and Aarohi agree to marry

एपिसोड की शुरुआत आरोही द्वारा रूही की देखभाल के साथ होती है। वह उसे दवाई लेने के लिए कहती है। रूही रोती है। आरोही पूछती है कि तुम ऐसा क्यों कर रहे हो। मंजिरी कहती है कि पता नहीं कब तक अभि इस बारे में सोचेगा, अगर सही फैसला नहीं लिया गया तो कई जिंदगियां बर्बाद हो जाएंगी। महिमा पूछती है कि क्या फैसला। मंजिरी कहती है कि हवा दिशा बदल देगी, प्रार्थना करें कि तूफान दूर हो जाए। रूही कहती है कि जब पापा मिलेंगे तब मैं दवाई लूंगी। आरोही कहती है कि जिद्दी मत बनो। रूही कहती है पापा… आरोही रोती है और उसे डांटती है। अभि आता है और देखता है।

Watch Online Episode Yeh Rishta Kya Kehlata Hai 16th February 2023

अभि रूही से पूछता है कि क्या तुम अपने पोपी को अपना डैड बनाओगी। रूही कहती है कि तुम मुझे दवाई बनाने के लिए बेवकूफ बना रहे हो। अभि कहता है नहीं, क्या तुम मुझे अपना पापा बनाओगे। वह एक कंगन दिखाता है। आरोही चौंक जाती है। रूही मुस्कुराती है और ब्रेसलेट पहन लेती है। वह कहती है हां, मेरा पोस्ता सबसे अच्छा है, वह मेरे पापा बन गए हैं, आई लव यू। दादी अक्षु का संदेश सुनती हैं। अक्षु का कहना है कि मैं अभीर और अभिनव के साथ उदयपुर आ रहा हूं। वे सब प्रसन्न हो जाते हैं। मुस्कान का कहना है कि यह सबसे अच्छी खबर है। वह कैरव को देखती है। 

मुस्कान भी उनके साथ शायरी करती हैं। वे हँसे। मनीष सोचता है कि अक्षु ने एक अच्छी खबर दी लेकिन वह खुश नहीं है। दादी का कहना है कि थोड़ा अभीर आएगा, हम इसे मनाएंगे और उनका स्वागत करेंगे। वह नृत्य करती है। रूही कहती है कि मैं भगवान का शुक्रिया अदा करूंगी। जाती है। आरोही अभि को समझाने के लिए कहती है। वह कहते हैं कि हम बैठकर बात करेंगे।

अभि कहता है कि रूही की देखभाल करना मेरी किस्मत है, मैं उससे बहुत प्यार करता हूं, मैं तीनों बच्चों को समान रूप से प्यार करता अगर वे यहां होते, मैंने नील से वादा किया था लेकिन मैं अपनी पसंद से उसका पोस्ता बन गया, यह फैसला भी मेरा है पसंद, किसी के कारण या रूही की जिद के कारण नहीं। आरोही रोती है। अभि कहता है देखो, मुझे पता है, तुमने अपना प्यार खो दिया, तुम्हारा पति नील, उसी तरह मैंने अपना खो दिया था…। मेरे पास घर वापस आने का कोई कारण नहीं था, मैं रूही की खातिर घर आ जाता था, अगर उसे कुछ हो जाता तो मैं नील और खुद का सामना कैसे कर पाता, वह मेरी जिम्मेदारी है। 

वह कहती है कि तुम उससे बहुत प्यार करते हो। वह कहता है कि उसने मुझ पर एक एहसान किया है, हम जानते हैं कि हमें अपने रिश्ते के लिए किसी नाम की आवश्यकता नहीं है, लेकिन पापा शब्द रूही के लिए imp बन गया है, वह पापा और पोपी के बीच अंतर ढूंढ रही है, समाज ने उसे बताया, यह अंतर बड़ी हो जाएगी, अगर किसी दिन वो मुझे अपनाने से इंकार कर दे तो, मैं यह जोखिम नहीं उठा सकता, मैं रूही को नहीं खो सकता, मुझे पता है कि मैं प्यार में स्वार्थी हो जाता हूं, मैंने तुमसे नहीं पूछा और रूही को प्रपोज किया,

मैं तुमसे अभी पूछ रहा हूं, मैं रूही को संभाल लूंगा, अगर तुम राजी नहीं हो , तो ठीक है, यह हमारी दुनिया को प्रभावित नहीं करेगा। आरोही कहती है कि मुझे तीसरा वादा चाहिए। वह पूछता है क्या। वह कहती है कि मेरी बेटी पहले से ही बहुत आहत है, मैं उसे और अधिक आहत नहीं देख सकती, मैं आपको उसे चोट पहुँचाने का मौका नहीं दे सकती, आपने कहा कि उसकी देखभाल करना आपकी किस्मत है, मुझसे वादा करो, अगर तुम उसके पापा बन गए, तो तुम फिर कभी पोपी नहीं बनोगे, मुझसे वादा करो, तुम अपना फैसला नहीं बदलोगे। 

अभि कहता है मैं वादा करता हूं, मैं इस फैसले को नहीं बदलूंगा। अक्षु खाना बना रही है। किचन के कपड़े में आग लग जाती है। वह इसे उड़ाने की कोशिश करती है। वह जल जाती है। अभि कहता है मैं स्वीकार करता हूं। आरोही मुझसे भी कहती है। वह कहता है आओ, हम सबको बताएंगे। अक्षु पूछता है कि आग कैसे लगी, इतना दर्द क्यों हो रहा है। अभीर खेलता है। वह कहती हैं कि प्लेन को किचन में मत फेंको, यह बहुत खतरनाक है। वह सॉरी कहता है और फिर से खेलता है। उसे प्लेन पर उदयपुर लिखा दिखाई देता है। वह पूछती है कि क्या यह मेरे परिवार के लिए खतरनाक है कि हम वहां जाते हैं। अभीर गाता है। अक्षु कहती है कि मुझे बहुत खुशी है और यह दर्द भी।

रूही भगवान का शुक्रिया अदा करती है। आरोही और अभि आते हैं। रूही कहती है मुझे आप दोनों को भी धन्यवाद कहना है। अभीर कहता है कि हम हवाई जहाज से जाएंगे। अक्षु कहती है नहीं। अभिनव कहते हैं कि हम वहां पहली बार जा रहे हैं, वहां स्वैग होना चाहिए। अभीर और अभिनव मजाक करते हैं। अक्षु पूछती है कि क्या इतना खर्च करना जरूरी है। अभिनव कहते हैं कि यह उनकी इच्छा है, यह मेरा सपना है कि आप अपने और अपने सपनों को पूरा करें, पैकिंग शुरू करें, जाम रखें, हम हवाई जहाज से जाएंगे।

महिमा रूही का कार्ड उठाती है और पूछती है कि क्या, अभी और आरोही शादी कर रहे हैं। आनंद पूछते हैं क्या, मजाक है क्या। रूही कहती है नहीं, वे दोनों मान गए, अब पोपी मेरे पापा बनेंगे। शेफाली और निशा मुस्कुराई। मंजरी खुशी से रो पड़ी। वह कहती हैं कि मैं उनके हां कहने का इंतजार कर रही थी। रूही महिमा पर मजाक करती है। अभि और आरोही आते हैं। मंजरी ने उन्हें गले लगा लिया। वह कहती हैं कि सब कुछ आसान हो जाएगा। महिमा कहती हैं कि मुझे नहीं पता कि कैसे रिएक्ट करूं। 

पार्थ का कहना है कि यह चौंकाने वाला है। आनंद अभि और आरोही को आशीर्वाद देता है। शेफाली और निष्ठा उन्हें बधाई देती हैं और गले मिलती हैं। रूही कहती है मुझे भी बधाई दो। निशा उसे गले लगाती है और कहती है बधाई हो, अब शादी होगी। रूही सबके लिए चॉकलेट लेने जाती है। आरोही कहती है कि मनीष और कैरव को इस फैसले को समझने में समय लगेगा, हम दादी के जन्मदिन के बाद यह बताएंगे, मैं चाहती हूं कि सारा ध्यान दादी पर हो। अभि कहता है मैं सहमत हूं। रूही सभी को चॉकलेट देती है। महिमा कहती हैं कि अगर इस रिश्ते में दरार आ गई तो घर नहीं चलेगा। 

मंजिरी कहती है कि ऐसा नहीं होगा। अक्षु और अभिनव टिकट चेक करते हैं। अभिनव अभीर से प्लेन के बारे में बात करता है। अक्षु को स्टील के बक्सों से पैसे मिलते हैं। उसे कायरव का फोन आता है और वह अभिनव को दिखाती है। वह कहते हैं कि यह होना ही था, कॉल का जवाब दें। वह जवाब देती है। कायरव कहता है कि आपको उदयपुर आने की जरूरत नहीं है, आप हमसे बहुत दूर हैं, आप मनीष से कहें कि आप दूर रहकर खुश हैं, क्या आप हमारे हिस्से की खुशियां भी चाहते हैं, हमें अब आपकी जरूरत नहीं है, बस मत करो’ टी आओ। 

वह रोती है। कायरव कहता है कि आपको उदयपुर आने की जरूरत नहीं है, आप हमसे बहुत दूर हैं, आप मनीष से कहें कि आप दूर रहकर खुश हैं, क्या आप हमारे हिस्से की खुशियां भी चाहते हैं, हमें अब आपकी जरूरत नहीं है, बस मत करो’ टी आओ। वह रोती है। कायरव कहता है कि आपको उदयपुर आने की जरूरत नहीं है, आप हमसे बहुत दूर हैं, आप मनीष से कहें कि आप दूर रहकर खुश हैं, क्या आप हमारे हिस्से की खुशियां भी चाहते हैं, हमें अब आपकी जरूरत नहीं है, बस मत करो’ टी आओ। वह रोती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *